कोरोना वायरस का खौफ जारी, उत्तर प्रदेश में बेसिक, माध्यमिक और हायर एजूकेशन की सभी परीक्षाएं हुई रद्द
Corona Virus 2020: उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश में कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए राज्य में आयोजित हो रही सभी परीक्षाओं को 2 अप्रैल 2020 तक के लिए रद्द कर दिया है. इसके साथ ही प्रदेश के सभी शैक्षणिक संस्थानों को भी 2 अप्रैल तक बंद करने की घोषणा की है. उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ये कदम कोरोना के खतरे से निपटने के लिए उठाए हैं.

कौन कौन सी परीक्षाएं हुईं रद्द?
कैबिनेट मंत्री शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए इस बात की जानकारी दी है कि प्रदेश के बेसिक, माध्यमिक और हायर एजूकेशन के संस्थानों, कालेजों और स्कूलों में होने वाली सभी परीक्षाओं को 2 अप्रैल तक रद्द कर दी गई है. जो परीक्षाएं उत्तर प्रदेश में चल रहीं हैं उन्हें भी रद्द कर दिया गया है. इसके अलावा राज्य में आयोजित होने वाली सभी प्रतियोगी परीक्षाएं भी 2 अप्रैल 2020 तक स्थगित कर दी गयीं है.

आपको बतादें कि इससे पहले राज्य सरकार द्वारा जारी एक आदेश में प्रदेश के सभी स्कूलों और कॉलेजों को 22 मार्च 2020 तक बंद कर दिया गया था. राज्य में किसी प्रकार के धरना प्रदर्शनों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. इस दौरान जिला प्रशासन द्वारा आयोजित होने वाले तहसील दिवस और समाधान दिवस को भी बंद कर दिया गया है. राज्य सरकार जिलाधिकारियों के माध्यम से प्रदेश के सभी धर्म गुरुओं से अपील करेगी कि वे मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों और गिरिजाघरों में भीड़ जमा होने से रोकें. उन्होंने बताया कि राज्य के सभी सिनेमा घर, मल्टीप्लेक्स, जिम, पर्यटन स्थल भी दो अप्रैल तक बंद रहेंगे.

श्रीकांत शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस का प्रभाव अब दिहाड़ी के मजदूरों पर भी दिखने लगा है ऐसे मजदूरों के भरन पोषण के लिए सरकार ने राज्य वित्तमंत्री की अध्यक्षता में श्रम मंत्री और कृषि मंत्री की तीन सदस्यीय टीम का गठन किया है. जो तीन दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट देगी और उसी के आधार पर यह फैसला लिया जायेगा कि इनकी मदद कैसे की जाये.

उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना वायरस का प्रकोप स्टेज-2 में है. सरकार यह प्रयास कर रही है कि यह स्टेज -3 में न पहुंचे.   कोरोना वायरस से संक्रमित सभी व्यक्तियों का मुफ्त में इलाज किया जायेगा. सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे कोरोना से बचाव के लिए राज्यभर में पोस्टर बैनर लगाकर लोगों को जागरूक किया जाए.